मोदी से योगी तक, जानिये कितने पढ़े-लिखे हैं BJP के ये नेता

505

आज के दौर में BJP हमारे देश का सबसे बड़ा पार्टी के रूप में उभर रही है , वही हमारे देश का प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी दुनिया के सबसे अच्छी छवि के नेता के रूप में जाने जाते है . आज हम आपको भाजपा के उन नेताओं के एजुकेशनल क्वालिफिकेशन के बारे में बता रहे है जो की आज BJP की नीवं ही नही बल्कि देश को एक अलग दिशा में ले जा रहे है , जो आज राजनीति की दुनिया में अपनी अलग पहचान रखते हैं .

1. नरेन्द्र मोदी 

नरेंद्र मोदी ने गुजरात के वडनगर से अपनी हायर सेकेंडरी एजुकेशन को पूरा किया. उनके शिक्षक उन्हें औसत छात्र का दर्जा देते थे.  बचपन से ही उनकी दिलचस्पी डिबेट और थिएटर में जरूर थी.

Source

साल 1978 में उन्होंने दिल्ली यूनिवर्सिटी के डिस्टेंस एजुकेशन प्रोग्राम से पॉलिटिकल साइंस में ग्रेजुएशन किया और फिर 5 साल बाद गुजरात यूनिवर्सिटी से साल 1982 में पॉलिटिकल साइंस में मास्टर डिग्री हासिल की.

2. अमित शाह

नरेंद्र मोदी के दाहिना हाथ माने जाने वाले और भाजपा अध्यक्ष अमित शाह की पॉलिटिकल लाइफ को तो आप अच्छी तरह से जानते हैं, पर क्या आपको यह जानकार आश्चर्य होगा की राजनीति की दुनिया

Source

के बादशाह अमित शाह पहले बैंक में काम करते थे. उनकी शुरुआती पढ़ाई मेहसाणा में हुई. फिर बायोकेमिस्ट्री में ग्रेजुएशन करने के लिए उन्होंने अहमदाबाद के सीयू शाह साइंस कॉलेज में एडमिशन लिया. बायोकेमिस्ट्री में बीएससी की डिग्री लेने के बाद अमित शाह ने अपने पिता के बिजनेस को ज्वाइन कर लिया. यहां तक कि स्टॉक ब्रोकर के तौर पर भी उन्होंने काम किया और अहमदाबाद के को-ऑपरेटिव बैंक में नौकरी भी की.

3. अरुण जेटली

अरुण जेटली देश के सबसे पढ़े-लिखे राजनेताओं में से एक है . अरुण जेटली के फैसलों और अर्थशास्त्र की गहरी समझ को देखकर आप इस बात का अंदाजा बखूबी लगा सकते हैं कि उन्होंने अर्थशास्त्र की पढ़ाई जरूर की होगी. देश के वित्त मंत्री अरुण जेटली दिल्ली हाई कोर्ट के वरिष्ठ एडवोकेट हैं.

Source

उनकी शुरुआती पढ़ाई दिल्ली के सेंट जेवियर्स स्कूल से हुई. दिल्ली के प्रसिद्ध कॉलेज श्री राम कॉलेज ऑफ कॉमर्स से ग्रेजुएट होने के बाद अरुण जेटली ने दिल्ली यूनिवर्सिटी से साल 1977 में लॉ डिग्री हासिल की. अपने कॉलेज के दिनों में जेटली कॉलेज प्रेसिडेंट भी रहे. वाद-विवाद में हिस्सा लेना, क्रिकेट खेलना और पढ़ाई करना जेटली के पसंदीदा काम थे. अरुण जेटली के परिवार में कई लोग वकील थे. उनके पिता महाराज किशन जेटली भी पेशे से वकील ही थे. शायद यही वजह है कि जेटली का रुझान वकालत की ओर अपने आप हो गया.

- Advertisement -

4. योगी आदित्यनाथ

उत्तर प्रदेश के सीएम योगी आदित्यनाथ पढ़ाई में बचपन से बहुत लगनशील थे. उनकी शुरुआती शिक्षा प्राथमिक विद्यालय ठंगर में हुई थी. इसके बाद योगी जी ने गढ़वाल यूनिवर्सिटी में एडमिशन लिया,

Source

जहां से उन्होंने गणित में बीएससी की डिग्री हासिल की. हालांकि कॉलेज के दिनों में तब उन्हें लोग योगी आदित्यनाथ के नाम से नहीं जानते थे. उनका असली नाम है अजय सिंह बिष्ट. कॉलेज में अजय अपनी कक्षा के सबसे होशियार छात्रों में एक थे और यही नहीं, योगी बहुत ही अच्छे वक्ता हैं और अपने भाषण से किसी भी व्यक्ति को आकर्ष‍ित करने की क्षमता रखते हैं. कॉलेज के समय से ही अपनी स्पीच क्वालिटी के लिए वे खूब मशहूर थे.

5. स्मृति ईरानी

केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी ने दिल्ली के होली चाइल्ड ऑक्स‍िलियम स्कूल से 12वीं की है. इसके बाद दिल्ली यूनिवर्सिटी से कॉरेस्पोंडेंस के जरिये उन्होंने बीए डिग्री हासिल की. हालांकि साल 2011 के

Source

विधानसभा चुनाव में गुजरात से नोमिनेशन पेपर फाइल करने के दौरान स्मृति ईरानी ने खुलासा किया कि उनकी उच्चतम शिक्षा बी.कॉम पार्ट-1 तक हुई है.  उनकी शैक्षणिक योग्यता और डिग्री को लेकर बाद में काफी विवाद हुआ था.

6. सुषमा स्वराज

विदेश मंत्री सुषमा स्वराज राजनीति की दुनिया में आने से पहले कानून की पढ़ाई पूरी कर चुकी हैं. सुप्रीम कोर्ट में बतौर वकील प्रैक्ट‍िस कर रही थीं. उन्होंने अंबाला के एसडी. कॉलेज से संस्कृत और

Source

पॉलिटिकल साइंस में बीए की डिग्री हासिल की और फिर पंजाब यूनिवर्सिटी चंडीगढ़ से LL.B किया. पढ़ाई के दौरान हरियाणा के भाषा विभाग द्वारा राज्य स्तर पर आयोजित होने वाली प्रतियागिता में सुषमा स्वराज लगातार तीन साल बेस्ट हिन्दी स्पीकर विनर रहीं. उनके भाषण को सुनकर आपको इस बात का अंदाजा लग गया होगा कि सुषमा स्वराज कितनी अच्छी वक्ता हैं.

आपको ये पोस्ट कैसी लगी कमेंट जरुर करे और शेयर करना न भूलें …हमारा सारे updates पाने के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करे .

 

- Advertisement -

- Advertisement -

You might also like

Comments are closed, but trackbacks and pingbacks are open.