Latest News , opinion & viral stories from India in hindi

बुलेटप्रूफ कारें कैसे बनाया जाता है ,जरूर जाने

0 24

बुलेटप्रूफ किसी वस्तु या जीव को सुरक्षित रखने के लिए प्रयोग किया जाता है बुलेटप्रूफ से कई ऐसी सारी चीजे बनाई जाती हैं जो सुरक्षित रखे। उसी प्रकार बुलेटप्रूफ कार है जिनके बारे में हम आपको बता रहे हैं।

Source

बुलेटप्रूफ कार एक ऐसा सुरक्षा वाहन है जिसमें आम कार की खिडकियों को बुलेटप्रूफ कांच के साथ बदल दिया जाता है और उसके बॉडी पैनल में आर्मर प्लेट लगाया जाता है. बुलेटप्रूफ कार आम कार की तरह ही दिखती है परन्तु उसका वजन आम कार से काफी ज्यादा होता है. पहले भारत में गाड़ियों के कम हुआ करता था। पहले नेताओं के पास एम्बेसडर और जिप्सी कार हुआ करती थी लेकिन अब तो नेताओं के साथ-साथ आम लोग भी फार्च्यूनर्स, स्कार्पियो, पजेरो, औडी जैसी बड़ी कारों का उपयोग करते हैं।

गाड़ी को बुलेटप्रूफ बनाने के लिए सबसे पहले मेटल शीट को चुनना पड़ता है मेटल शीट कितनी मोटा हो ये हथियारों पर निर्भर करता है. भारत में लग्गर इंडस्ट्रीज मेटल शीट खुद बनाती है जो जालंधर (पंजाब) में स्थित है। इसे चंडीगढ़ की टर्मिनल बलिस्टिक रिसर्च लैब और अमेरिका की सर्टिफिकेशन इंडस्ट्री ने प्रमाणित किया है। बुलेटप्रूफ मेटल शीट इतनी मजबूत होती है कि इसको काटने ओर तराशने के लिए खास ब्लेड वाले कटर इस्तेमाल किए जाते है. मेटल शीट की मोटाई तय करने के बाद, तराशने का काम शुरू किया जाता है. मेटल शीट को इंस्टाल करते वक्त, इंजन फायर वाल की प्रोटेक्शन पर ध्यान देना होता है एक एक तार और वाल्व का खास ध्यान रखा जाता हैं क्योंकि वहां पर फ्यूल पाइपिंग, ट्रांसमिशन, आयल और इलेक्ट्रिकल वायरिंग भी होती है.

Source

बुलेट प्रूफ कार के शीशों को भी मजबूत बनाने में तक़रीबन 45 या 55 mm का गिलास होता है जो कि परतो में काफी मोटा हो का इस्तेमाल किया जाता है. अब बुलेटप्रूफ कार में खास फायरिंग स्लॉट्स को बनाया जाता है. बुलेटप्रूफ कार का खर्चा अन्य कार की कीमत से ज्यादा होता है तकरीबन 20 से 25 लाख का खर्चा आता है. शीशों को बुलेटप्रूफ करवाना है तो सिर्फ 5 लाख रूपये लगते हैं।

बुलेटप्रूफ की विशेषताएं

360 डिग्री बुलेटप्रूफ :- 360 डिग्री बुलेटप्रूफ प्रोटेक्शन की सुविधा बुलेटप्रूफ वाहन की मुख्य विशेषता है. आर्मर किट प्रक्रिया से इसे बनाया जाता है ताकि यात्री कम्पार्टमेंट के चार पक्ष उच्च गुणवत्ता वाले स्टील के कवच और कांच को गोला-बारूद से बचाते हुए सुरक्षित रहे।

Source

पारदर्शी बुलेटप्रूफ :- पारदर्शी बुलेटप्रूफ ग्लास बैलिस्टिक ग्लास के नाम से जाना जाता है. यह बुलेटप्रूफ ग्लास कार के शीशे से टकराने वाली गोलियों को रोकता है. बुलेटप्रूफ शीशे में मुख्य तौर पर दो पारदर्शी प्लास्टिक की परतें होती हैं. प्लास्टिक की परत पॉली कार्बोनेट से बनी होती है जो उसको कठिन और पारदर्शी बनाती है. शीशे के दो परतों के भीतर पॉली कार्बोनेट की लेयर करने की प्रक्रिया को लॅमिनेशन कहा जाता है। जब बुलेट को कांच के गिलास पर फायर किया जाता है, तो बुलेट की उर्जा को कांच के गिलास की परत अवशोषित करती है. यह परत भंगुर होती है अर्थार्त जिस जगह पर बुलेट हिट होती है वहा से शीशा थोड़ा चटक जाता है. दूसरी कठोर प्लास्टिक की परत बुलेट की शेष ऊर्जा को अवशोषित करती है और इसे रोक देती है ताकि ग्लास की आखिरी परत पर छेद न हो. बुलेट प्रूफ ग्लास 7 मिलीमीटर से लेकर 75 मिलीमीटर तक की मोटाई में आते हैं।

बुलेटप्रूफ फ्लोर प्रोटेक्शन एक आर्मरड स्टील है जो आपके वाहन के फर्श में जोड़ा जाता है. इस प्रकार के आर्मरड स्टील हाथ से फेके गए ग्रेनेडों को विफल करते है।

- Advertisement -

You might also like

Leave A Reply

Your email address will not be published.