- Advertisement -

उत्तर प्रदेश के इस गांव में बच्चों को रस्सी-जंजीर से बांधकर रखती हैं महिलाएं, क्यों

155

हम सब जानते हैं बच्चे भगवान का रूप होते हैं लेकिन उत्तर प्रदेश के बांदा जिले के एक गांव में महिलाएं अपने छोटे बच्चे को जंजीर या रस्सी से बांधकर रखती हैं। ये इस गांव की लगभग महिला करती है। अब बात है की ऐसा महिला क्यों करती है।

Source
पैरो में जंजीर बांधने का कारण गड्ढे में गिरना

बांदा शहर के नजदीक गांव किलेदार का पुरवा है। यह लगभग 3 किलोमीटर की दूरी पर है। इस गांव में आजतक ना ही सड़क बनी और ना ही पानी निकासी के लिए नालियां। इस गांव में एक भी शौचालय नहीं है। यहां लोगों ने घरेलू प्रयोग में निकलने वाले गंदे पानी की निकासी के लिए घरों के बाहर गहरे गड्ढे खोद रखे हैं, जिनमें पानी भरता है। जब यह गड्ढ़ा भर जाता है तो बाल्टी से पानी निकालकर खेतों में फेंक दिया जाता है। गांव के लोगों का कहना है, ये छोटे बच्चे खेलते-खेलते गड्ढे में न गिर जाएं, इसलिए उनके पैरों में रस्सी-जंजीर बांध दी जाती है।

Source

इससे बच्चों के गड्ढे में गिरने का डर भी नहीं रहता और हम घर का काम भी निश्च‍ित होकर कर लेते हैं। सारे काम निपटने के बाद बच्चों के पैरों से बंधी रस्सी खोल दी जाती है। गांव के समाजसेवी कुलदीप शुक्ला ने बताया कि गांव की आबादी लगभग 600 की है, लेकिन एक भी शौचालय नहीं है। यहां के लोग कई बार जिला प्रशासन को पत्र लिख समस्यायों से अवगत करा चुके हैं। लेकिन किसी ने भी इस समस्या की ओर ध्यान नहीं दिया।

Source

हम इस बार सीएम योगी को पत्र भेजा है। कुलदीप के अनुसार, जिला प्रशासन हमेशा खाना पूर्ती करता आ रहा है। शौचालय और सड़क के नाम पर बहाने बना दिए जाते हैं। मुख्यालय से सटे गांव की बदहाली को लेकर मुख्य विकास अधिकारी रामकुमार सिंह का कहना है, गांव में शौचालय न बनने की वजह बालू पर रोक है। हम क्या कर सकते हैं। वहीं, सीडीओ राम कुमार का कहना है कि गांव की स्टेटस रिपोर्ट मंगाई है जल्दी ही काम किया जाएगा।

Source

- Advertisement -

You might also like

Comments are closed, but trackbacks and pingbacks are open.