LPG गैस से हुई दुर्घटना के बाद मिलेगा 40 लाख रुपये का बीमा

0 127

क्या आप जानते हैं कि एलपीजी (लिक्विफाइड पेट्रोलियम गैस) उपभोक्ता के रूप में, आप बीमा कवरेज का दावा कर सकते हैं? क्या आप अपने एलपीजी बीमा पॉलिसी से अवगत हैं? गैस सिलेंडर फटने के मामले में एलपीजी उपभोक्ता दुर्घटना में होने वाली मौतों और चोटों के लिए सुरक्षित हैं।

Source

मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, किसी दुर्घटना के मामले में एलपीजी उपभोक्ताओं को 40 लाख रुपये तक के बीमा कवरेज का दावा कर सकते हैं। यह आंशिक रूप से सच है एलपीजी दुर्घटनाग्रस्त लोगों को मृत्यु और दुर्घटना के लिए कवर किया गया है एलपीजी कंपनियों (तेल कंपनियों) और एलपीजी वितरक (गैस एजेंसियां) तीसरे पक्ष की दायित्व बीमा लेते हैं एलपीजी ग्राहक से कोई प्रीमियम एकत्र नहीं किया गया है एलपीजी गैस से दुर्घटना पीड़ितों को कंपनी से और उसके स्थानीय गैस एजेंसी से बीमा का दावा कर सकता है।

वही एलपीजी देयता पॉलिसी (पब्लिक लायबिलिटी पॉलिसी) व्यक्तिगत दुर्घटना को कवर करती है, मेडिकल व्यय की प्रतिपूर्ति करती है और प्राधिकृत ग्राहक के पंजीकृत परिसर में संपत्ति के नुकसान को कवर करती है। दुर्घटनाग्रस्त व्यक्तियों को दिया गया बीमा राशि प्रति घटना (दुर्घटना) और प्रति व्यक्ति पर आधारित है।

 

दुर्घटना के मामले में बीमा का दावा कैसे करें?

हर साल सैकड़ों एलपीजी सिलेंडर संबंधित दुर्घटनाओं की सूचना दी जाती है। तेल विपणन कंपनियों और वितरक बीमा प्रीमियम के रूप में करोड़ों रुपए का भुगतान करते हैं। लेकिन एलपीजी बीमा पॉलिसी के बारे में जागरूकता की कमी के कारण, कई बीमा दावा नहीं होते हैं।

Source

क्या करें

– एलपीजी गैस सिलेंडर विस्फोट की घटना के बारे में सबसे पहले पुलिस को सूचित करें।

– एलपीजी गैस सिलेंडर विस्फोट की घटना के बारे में गैस एजेंसी को सूचित करें।

– इसके बाद घटनास्थल और हादसे की जांच की जाती है।

– जांच रिपोर्ट के आधार पर उपभोक्ता क्लेम राशि के लिए दावा कर सकता है।

पीड़ित का रिश्तेदार मुआवजे के लिए कर सकता है अपील उसके लिए ग्राहक को मौत प्रमाण पत्र (मूल) और पोस्ट-मर्टेम के मूल तेल कंपनी को प्रस्तुत करना आवश्यक है। मौत के मामले में रिपोर्ट / कोरोनर्स रिपोर्ट / पूछताछ रिपोर्ट, लागू होने के मामले में। ग्राहकों को मूल चिकित्सा बिल, डॉक्टरों की दवाइयों की खरीद, मूल में कार्ड का निर्वहन और किसी भी अन्य दस्तावेज़ से संबंधित दस्तावेज प्रस्तुत करना आवश्यक है। गैस सिलेंडर विस्फोट मामले में पीड़ित का रिश्तेदार मुआवजे के लिए अदालत में भी अपील कर सकता है। मुआवजा की राशि उम्र, वेतन और पीड़ित की स्थिति को ध्यान में रखते हुए तय किया जाता है।

इसका रखें ध्यान

– बिना किसी औपचारिकता के सभी गैस सिलेंडर स्वत: बीमाकृत होते हैं।

– सभी गैस एजेंसियों के लिए अपने कार्यालय के नोटिस बोर्ड पर अनिवार्य रूप से एलपीजी गैस सिलेंडर इंश्योरेंस और उसके लाभ की जानकारी देना अनिवार्य है।

– उपभोक्ता इंश्योरेंस और उसके लाभ के बारे में विस्तृत जानकारी गैस एजेंसी से संपर्क कर प्राप्त कर सकते हैं।

– गैस सिलेंडर के साथ प्रयोग में आने वाले अन्य उपकरणों को गैस एजेंसी के माध्यम से प्राप्त करना सुरक्षित और लाभकारी होता है।

– गैस सिलेंडरों का उपयोग तय मानकों और निर्देशों के आधार पर किया जाना चाहिए। अगर हादसा किसी गैरकानूनी उपयोग के दौरान होता है तो पीड़ित इंश्योरेंस राशि का हकदार नहीं माना जाएगा।

- Advertisement -

You might also like

Leave A Reply

Your email address will not be published.