- Advertisement -

अब आपको स्‍मार्टफोन बताएगा की “आप प्‍यार में हैं या नहीं”

85

आप कभी डेट पर जाते हैं, अपने साथी को किस करते हैं और गुड नाइट कह कर अपने-अपने रास्‍ते आ जाते हैं। इसके बाद अपना स्‍मार्टफोन निकालते हैं और बुदबुदाते हैं कि मैंने बहुत अच्‍छा समय बिताया। आपके इतना कहने पर स्‍मार्टफोन कैलकुलेशन करने लगता है और इस सबमें बस एक मिली सेकेंड का समय लगता है। इसके बाद स्‍मार्टफोन से आवाज़ आती है कि “आपको प्‍यार हो गया है”।

Source

आप सही समझे ऐसा बहुत जल्‍द होने वाला है जब आपका स्‍मार्टफोन बताएगा आपको प्यार हुआ है या नहीं। इसमें आपका फोन आपकी भावनाओं के आधार पर आपको बताएगा कि आप क्‍या चाह रहे हैं।

स्‍मार्टफोन बताएगा आपको प्यार हुआ

भविष्‍य की ये तकनीक अब हमसे ज्‍यादा दूर नहीं है। इस आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस अनुमानों से हम सिर्फ पांच साल ही दूर हैं। साल 2022 तक आपका पर्सनल डिवाइस आपकी भावनाओं को आपसे ज्‍यादा समझने लगेगा। पर्सनल डिवाइस की एक रिपोर्ट में यह बात सामने आई है कि जल्‍द ही ऐसा हो भी सकता है।

Source
सभी कम्पनियाँ मिल कर कर रही इस डिभाईस का निर्माण

फेशियल रिकॉग्‍निशन सॉफ्टवेयर जो आपके चेहरे की एक झलक के साथ फोन को अनलॉक कर देता है। आने वाले समय में स्‍मार्टफोन फेशियल रिकॉग्निशन और वॉयस विश्‍लेषण करके आपका स्‍मार्टफोन आपकी हंसी और आंसुओं और आपकी आवाज़ के साथ आपकी असली भावनाओं के बारे में भी बता देगा। इन इमोशन एआई को अमेज़न, ऐप्‍पल और गूगल जैसी बड़ी कंपनियों के साथ छोटे वेंडर जैसे अफेक्टिवा, ऑडीरिंग और आइरिस द्वारा विकसित किया जा रहा है।

Source

ये सभी कंपनियां भी इमोशन एआई के साथ हर रोज़ डिटेक्‍ट एनालिस, प्रोसेस और लोगों की भावनात्‍मक स्थिति और मूड को जानने के तरीकों पर प्रयोग कर रही है। अफेक्टिवा, ऑडिरिंग और आइरिस का फोकस है कि आपकी कार को एक ऐसे इमोशन डिटेक्‍टर में बदलना है जो आपके व्‍यवहार को मॉनिटर कर सके ताकि बेहतर राइड और सेफ ड्राइविंग के लिए ड्राइव को मॉनिटर किया जा सके।

अकसर लोग प्‍यार में पड़ने के बाद भी असमंजस में पड़ जाते हैं कि उन्‍हें प्‍यार हुआ है या नहीं और फिर उनके आसपास के लोग उन्‍हें बताते हैं कि उन्‍हें प्‍यार हो गया है लेकिन इस तकनीक के आ जाने के बाद आपको किसी और की जरूरत नहीं पड़ेगी। आपका प्‍यारा स्‍मार्टफोन ही आपका ये काम कर देगा लेकिन इसके लिए आपको कम से कम 5 साल तक इंतज़ार करना पड़ेगा। कंपनियां अभी इस तकनीक पर काम कर रही हैं और देखते हैं कि इसमें उन्‍हें कितना वक्‍त लगेगा।

Source

इसे पढ़ने के बाद आप भी बहुत एक्‍साइटेड हो गए होंगें और आपका मन भी कर रहा होगा कि इस ये तकनीक जल्‍दी से लॉन्‍च हो जाए और आप अपने मन के इशारों को इतनी आसानी से समझ पाएं।

- Advertisement -

You might also like

Comments are closed, but trackbacks and pingbacks are open.