2023 की सावित्रीबाई फुले किशोरी समृद्धि योजना: रजिस्ट्रेशन फॉर्म, फायदे और योग्यता

Er.Jahansher
0

2023 की सावित्रीबाई फुले किशोरी समृद्धि योजना: रजिस्ट्रेशन फॉर्म, फायदे और योग्यता



Savitribai Phule Kishori Samridhi Yojana: झारखंड के पूर्व मुख्यमंत्री श्री रघुवर दास जी ने 2019 में मुख्यमंत्री सुकन्या योजना को शुरू किया था, जो बालिकाओं की शिक्षा को बढ़ाती है। लेकिन 2022 में मुख्यमंत्री सुकन्या योजना को श्रीमती सावित्रीबाई फुले किशोरी समृद्धि योजना में बदल दिया गया है। इसलिए राज्य की बालिकाओं को अब मुख्यमंत्री सुकन्या योजना का लाभ नहीं मिलेगा, बल्कि सावित्रीबाई फुले किशोरी समृद्धि योजना का लाभ मिलेगा।


बालिकाओं को आठवीं से बारहवीं कक्षा तक सावित्रीबाई फुले किशोरी समृद्धि योजना के तहत आर्थिक सहायता दी जाएगी। इस योजना का लाभ भी राज्य के कुछ जिलों में मिलने लगा है। झारखंड के लोगों को यह लेख पढ़ना चाहिए। यही कारण है कि आज हम आपको इस लेख में Savitribai Phule Kishori Samridhi Yojana से जुड़ी हर बात बताने जा रहे हैं, जिसे पढ़कर आप आसानी से अपनी बच्ची को इस योजना का लाभ दिलवा सकते हैं।


सावित्रीबाई फुले किशोरी समृद्धि योजना 2023

झारखंड सरकार ने सावित्रीबाई फुले किशोरी समृद्धि योजना शुरू की है, जिसका उद्देश्य बालिकाओं को शिक्षित करना है। 8वीं और 9वीं कक्षा में पढ़ने वाली लड़कियों को ₹2500 की आर्थिक सहायता दी जाएगी, जबकि 10वीं, 11वीं और 12वीं कक्षा में पढ़ने वाली लड़कियों को ₹5000 की आर्थिक सहायता दी जाएगी। इसके अलावा लाभार्थी बालिकाओं को 18 साल की आयु पूरी करने के बाद ₹20,000 का एकमुश्त अनुदान भी दिया जाएगा। बालिकाएं एकमुश्त अनुदान की राशि का उपयोग उच्च शिक्षा या विवाह में कर सकती हैं।

राज्य की SECC-2011 जनगणना में शामिल 10 लाख अंत्योदय कार्ड धारक परिवारों और 27 लाख परिवारों की बालिकाओं को इस योजना से लाभ मिलेगा। यानी इस योजना से 37 लाख परिवारों की बेटियां लाभ उठा सकती हैं। बालिकाएं Savitribai Phule Kishori Samridhi Yojana 2023 से लाभान्वित होकर निरंतर शिक्षा प्राप्त कर सकती हैं। इससे बाल विवाह को रोकने और बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ अभियान को बढ़ावा देने में मदद मिलेगी।



अब सभी बच्चियों को सावित्रीबाई फुले किशोरी समृद्धि योजना का लाभ मिलेगा।

विश्व बाल दिवस पर झारखंड के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने बड़ी घोषणा की है। उनका कहना था कि सावित्रीबाई फुले किशोरी समृद्धि योजना में एक परिवार की अधिकतम दो बच्चियों को लाभ देने की आवश्यकता नहीं रही है। अब परिवार की सभी बच्चियों को इस कार्यक्रम का लाभ मिलेगा। ताकि गरीब परिवार की हर बच्ची को आर्थिक सहायता मिल सके। विश्व बाल दिवस पर मुख्यमंत्री ने यूनिसेफ के बाल पत्रकारों से चर्चा के बाद घोषणा की। और कहा कि हमारी सरकार ने सावित्रीबाई फुले किशोरी समृद्धि योजना की शुरुआत की है, जिसका उद्देश्य राज्य की बेटियों को बल देना और उन्हें अपनी पढ़ाई से जुड़े रखना है। इस योजना से अधिक से अधिक बेटियों को लाभ मिल सकता है। इसके लिए, एक परिवार से कम से कम दो बच्चियों को लाभ देने की आवश्यकता खत्म हो जाएगी। जिससे सभी बच्चों को फायदा होगा। 



झारखंड में 5.5 लाख छात्राओं को किशोरी समृद्धि योजना का लाभ मिलेगा

मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन स्थापना दिवस पर झारखंड के विद्यार्थियों को महत्वपूर्ण उपहार देंगे। राज्य सरकार द्वारा मुख्यमंत्री सावित्रीबाई फुले किशोरी समृद्धि योजना के तहत कक्षा आठ से बारहवीं तक पढ़ने वाले विद्यार्थियों को 20 हजार रुपए की आर्थिक सहायता दी जाती है। विद्यालय के प्रत्येक विद्यार्थी को अलग-अलग राशि दी जाती है। झारखंड सरकार ने यह योजना मुख्यमंत्री सावित्रीबाई फुले किशोरी समृद्धि योजना के तहत 5.5 लाख विद्यार्थियों को मदद करने के लिए बनाई है। छात्राओं को इस योजना से 261 करोड़ रुपए का आर्थिक लाभ मिलेगा। 6 लाख 51 हजार से अधिक युवा आज इस कार्यक्रम में शामिल हैं। ताकि राज्य में बाल विवाह की बुरी आदतों को दूर करके महिलाओं की शिक्षा और सशक्तिकरण को बढ़ावा दिया जा सके। 



किशोरी समृद्धि योजना का लाभ लेने के लिए जन्म प्रमाण पत्र की आवश्यकता नहीं होगी।

गुरुवार को मुख्यमंत्री हेमंत की कैबिनेट बैठक हुई। हेमंत सरकार ने इस बैठक में सावित्रीबाई फुले किशोरी समृद्धि योजना पर महत्वपूर्ण निर्णय लिया है। अब से, बालिकाओं को सावित्रीबाई फुले किशोरी समृद्धि योजना का लाभ लेने के लिए जन्म प्रमाण पत्र देना नहीं होगा। योजना के तहत पहले बाल कल्याण समिति ने अनाथ बालिकाओं को हर आवेदन पत्र के साथ प्रमाण पत्र की छाया देनी थी। लेकिन अब सरकार ने इस शर्त को हटा दिया है। ताकि इस कार्यक्रम से अधिक से अधिक बालिकाओं को लाभ मिल सके। यह भी निर्णय लिया गया है। कि विवाह योग्य निर्धारित आयुक्त का विवाह होने पर इस योजना का लाभ नहीं मिलेगा। किशोरी के माता पिता की मौत के बाद उसके पालक या अभिभावक के संबंधित कागज ही मान्य होंगे।


सावित्रीबाई फुले किशोरी समृद्धि योजना की जानकारी



योजना का नाम    

सावित्रीबाई फुले किशोरी समृद्धि योजना

लाभार्थी

Secc-2011 और अंत्योदय कार्ड धारक परिवार की लड़कियां

उद्देश्य  

किस्तों आर्थिक सहायता प्रदान करना

किस्तों की संख्या

6 किस्तें    

कुल आर्थिक सहायता

₹40000 रु

साल

2023

राज्य 

झारखंड

आवेदन प्रक्रिया

ऑफलाइन

आवेदन पत्र डाउनलोड करने का लिंक

आवेदन पत्र 




सावित्रीबाई फुले किशोरी समृद्धि योजना के लिए आवेदन करने के लिए आवश्यक विवरण


बालिकाओं को सावित्रीबाई फुले किशोरी समृद्धि योजना के तहत आवेदन करने के लिए अपने नजदीकी आंगनबाड़ी केंद्र में जाना होगा, जहां वे आंगनबाड़ी संचालिका से आवेदन पत्र लेंगे। क्योंकि इस योजना में आवेदन ऑफलाइन किया गया है। बालिकाएं अपने स्कूल, प्रखंड, बाल विकास परियोजना पदाधिकारी और जिला समाज कल्याण पदाधिकारी कार्यालयों में जाकर भी आवेदन कर सकती हैं। साथ ही, राज्य के जिलों के उपायुक्त को इस कार्यक्रम का लाभ पात्र बालिकाओं को देने का आदेश दिया गया है। इस योजना का लाभ भी कई जिलों में मिलने लगा है।






योजना के तहत प्रदान की जाने वाली धनराशि


इस योजना के तहत लाभार्थी लड़कियों को किस्तों में पैसा दिया जाता है। नीचे दी गई सूची आपको इन किस्तों के बारे में बताएगी।

 किस्त                                                किस्तों का विवरण                                 आर्थिक सहायता (रुपए में)

 पहली किस्त                                             8वीं कक्षा में                                                     2500

 दूसरी किस्त                                             9वी कक्षा में                                                     2500

 तीसरी किस्त                                          10वीं कक्षा में                                                     5000

 चौथी किस्त                                            11वीं कक्षा में                                                     5000

 पांचवी किस्त                                         12वीं कक्षा में                                                      5000

 छठी किस्त                               18 साल की उम्र पूरी हो जाने के बाद                                20000



झारखंड सावित्रीबाई फुले किशोरी समृद्धि योजना के फायदे

योजना का मुख्य उद्देश्य बालिकाओं को किस्तों में पैसे देकर उन्हें स्कूल से जुड़ा रखना है। क्योंकि राज्य में बहुत सी बालिकाएं शिक्षा प्राप्त करना चाहती हैं लेकिन उनके परिवार की आर्थिक स्थिति कमजोर होने के कारण ऐसा नहीं कर पाती हैं लेकिन 8वीं से 12वीं कक्षा तक पात्र परिवारों की बालिकाएं अब सावित्रीबाई फुले किशोरी समृद्धि योजना के माध्यम से कक्षावार आर्थिक सहायता प्राप्त करके पढ़ाई कर सकेंगे। जो राज्य में बाल विवाह को कम करेगा और शिक्षा को बढ़ावा देगा। प्रधानमंत्री जी के बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ अभियान को भी Savitribai Phule Kishori Samridhi Yojana से बढ़ावा मिलेगा। इससे राज्य में बेटियों की सुरक्षा और सुरक्षा में सुधार होगा।



झारखंड सावित्रीबाई फुले किशोरी समृद्धि योजना का लाभ

  • 2019 में झारखंड में मुख्यमंत्री सुकन्या योजना शुरू की गई थी। लेकिन 2022 में इसमें बदलाव करके सावित्रीबाई फुले किशोरी समृद्धि योजना बनाई गई है।
  • यानी बालिकाओं और किशोरियों को अब पूर्व की तरह मुख्यमंत्री सुकन्या योजना का लाभ नहीं मिलेगा. इसकी जगह अब बालिकाओं को सावित्रीबाई फुले किशोरी समृद्धि योजना मिलेगी।
  • 8वीं से 12वीं कक्षा के विद्यार्थियों को इस योजना के माध्यम से आर्थिक सहायता दी जाएगी।
  • 18 साल की आयु पूरी होने के बाद लाभार्थी बालिका को 20,000 रुपये का एकमुश्त अनुदान दिया जाएगा, जो उसे उच्च शिक्षा या शादी करने के लिए मिलेगा।
  • इस योजना का लाभ राज्य के 37 लाख परिवारों की बेटियों को मिलेगा, 10 लाख अंत्योदय कार्ड धारक परिवारों और SECC-2011 जनगणना में शामिल 27 लाख परिवारों को मिलेगा।
  • Jharkhand Savitribai Phule Kishori Samridhi Yojan के तहत बालिका के बैंक खाते में सीधे डीबीटी के माध्यम से धन मिलेगा।
  • इस योजना के तहत आंगनबाड़ी केंद्रों के माध्यम से ऑफलाइन आवेदन किया गया है। बालिका अपने स्कूल, प्रखंड बाल विकास परियोजना अधिकारी और जिला समाज कल्याण पदाधिकारी कार्यालय से भी संपर्क कर सकती हैं ताकि वे आवेदन कर सकें।
  • राज्य में यह योजना लड़कियों को शिक्षित करेगी, जिससे उनका भविष्य सुरक्षित होगा।



सावित्रीबाई फुले किशोरी समृद्धि योजना के तहत योग्यता मानदंड

  • आवेदिका बालिका झारखंड की मूल निवासी होना आवश्यक है।
  • योजना का लाभ सिर्फ SECC-2011 जनगणना में शामिल और अंत्योदय कार्ड धारक परिवारों की बालिकाओं को मिलेगा।
  • यदि लाभार्थी बालिका की शादी 18 वर्ष की आयु से पहले होती है, तो उसे इस योजना का लाभ लेने का अपात्र घोषित किया जाएगा और उसे दो हजार रुपये का एकमुश्त भुगतान भी नहीं मिलेगा।
  • आवेदिका के पास आधार कार्ड और बैंक खाता होना चाहिए।



आवश्यक दस्तावेज

  • आधार कार्ड
  • निवास प्रमाण पत्र
  • अंत्योदय कार्ड
  • SECC-2011 के अंतर्गत होने वाला प्रमाण पत्र शामिल है
  • स्कूल का जाने प्रमाण पत्र
  • आय प्रमाण पत्र
  • पासपोर्ट आकार फोटोग्राफ
  • बैंक खाता विवरण



सावित्रीबाई फुले किशोरी समृद्धि योजना में आवेदन कैसे करें?

  • पहले आपको सावित्रीबाई फुले किशोरी समृद्धि योजना का आवेदन पत्र अपने निकटतम आंगनबाड़ी केंद्र से लेना होगा।
  • इसके बाद, आपको आवेदन पत्र में मांगी गई सभी आवश्यक जानकारी को ठीक से पढ़कर भरना होगा।
  • आपको आवेदन पत्र से सभी आवश्यक दस्तावेजों को भरकर भरना है।
  • अब आपको इस पत्र को जिला समाज कल्याण पदाधिकारी और प्रखंड विकास पदाधिकारी के कार्यालय में सबमिट करना होगा।
  • सावित्रीबाई फुले किशोरी समृद्धि योजना के लिए आवेदन इस तरह कर सकते हैं।



एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ
एक टिप्पणी भेजें (0)
To Top