Rich Dad and Poor Dad Summary In Hindi : अमीर लोग अपने बच्चों को पैसे के बारे में क्या सिखाते हैं जो गरीब और मध्यम वर्ग नहीं सिखाते

Er.Jahansher
0

Rich Dad and Poor Dad Summary In Hindi : अमीर लोग अपने बच्चों को पैसे के बारे में क्या सिखाते हैं जो गरीब और मध्यम वर्ग नहीं सिखाते



Rich Dad and Poor Dad Summary In Hindi
image credit by amazon


Rich Dad and Poor Dad Summary In Hindi : रॉबर्ट टी. कियोसाकी ने रिच डैड पुअर डैड लिखा, जो धन और वित्तीय सफलता के बारे में आम धारणाओं को छूता है। कियोसाकी ने अपने बचपन के सबसे अच्छे दोस्त के पिता को "रिच डैड" (उनके सबसे अच्छे दोस्त) और अपने बायोलॉजिकल पिता को "पुअर डैड" (उनके बायोलॉजिकल पिता) से तुलना करके वित्तीय समृद्धि के महत्वपूर्ण सिद्धांतों को व्यक्त किया है। नीचे इस पुस्तक के प्रमुख आवश्यक सिद्धांतों का संक्षिप्त विवरण है:

1. वित्तीय शिक्षा का महत्व: 


कियोसाकी ने कहा कि धन के बारे में जानकारी प्राप्त करना बहुत महत्वपूर्ण है, और कहा कि पारंपरिक शिक्षा अक्सर धन के बारे में महत्वपूर्ण बातें नहीं बताती है।

2. संपत्ति बनाम कर्तव्य: 


लेख में संपत्ति और कर्तव्य का अंतर किया गया है। कियोसाकी का कहना है कि अमीर लोगों का ध्यान वह संपत्ति हासिल करने पर है जो आय उत्पन्न करती है, जबकि अन्य लोगों का ध्यान संसाधनों को खपा देने वाले कर्तव्यों को पूरा करने पर है।

3. रैट प्रतियोगिता से बाहर निकलना:


कियोसाकी ने "रैट रेस" की कल्पना की, जहां लोग अपने खर्चों को ढंग से भरने के लिए कड़ी मेहनत करते हैं, लेकिन पैसे नहीं जमा करते। इससे बचने का एक उपाय है आय उत्पन्न करने वाली संपत्ति में निवेश करना।

4. उद्यमिता और निवेश: 


किताब उद्यमिता और निवेश को वित्तीय स्वतंत्रता की दिशा में एक मार्ग के रूप में बताती है। वित्तीय ज्ञान को बढ़ावा देना और कैलक्युलेटेड रिस्क लेना महत्वपूर्ण है।

5. मन की शक्ति: 


लेख बताता है कि मन की शक्ति वित्तीय सफलता में महत्वपूर्ण योगदान देती है। पुराना है, चुनौतियों को पार करने और अवसरों को पकड़ने के लिए एक इच्छाशील और सक्रिय मस्तिष्क बनाए रखना, साथ ही अनुकूलन और सीखने के लिए एक सकारात्मक और सक्रिय मस्तिष्क बनाए रखना महत्वपूर्ण है। 

सारांश:

कुल मिलाकर, "रिच डैड पुअर डैड" पढ़ने वालों को पैसा और धन के बारे में नए विचारों की ओर प्रेरित करता है। ये किताब आज भी कियोसाकी के दिए गए समय से परे अर्थशास्त्र और समृद्धि की ओर बढ़ती है।


Naikiran.com अब whatsapp चैनल पर भी उपलब्ध है। आज ही फॉलो करें और पाएं महत्वपूर्ण खबरें

Books:-

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ
एक टिप्पणी भेजें (0)
To Top