बॉलीवुड में आज रॉबिनहुड पुलिस पसंद, 80 के दशक में फिल्मों में महिला पुलिस ने ली एंट्री

0 121

 

- Advertisement -

उत्तरप्रदेश में विवेक तिवारी हत्याकांड के बाद देशभर में पुलिस की भूमिका एक बार फिर चर्चा में है। वैसे पुलिस की भूमिकाओं से बॉलीवुड भी अछूता नहीं है। समय-समय पर यहां भी पुलिस की छवि बदली है। पुराने जमाने में दीवार, जंजीर, शक्ति, अर्धसत्यके बाद और उनके बीच की फिल्मों में पुलिस की भूमिकाएं हीरो से शिफ्ट होकर विलेन की ओर हो गईं।

    1. आज के जमाने में जो सबसे पॉपुलर पुलिस कैरेक्टर चुलबुल पांडे का है, वह भी खुद को रॉबिन हुड मानता है। वह घूसखोर है। लूट का माल हड़पता है, पर चूंकि गरीबों की मदद करता है और परिवार का ख्याल रखता है तो उसका घूसखोर होना दर्शकों को पसंद आता है। रणवीर सिंह भी सिंबा में इंस्पेक्टर का रोल प्ले कर रहे हैं, जो घूसखोर है। हालांकि सिंघमका इंस्पेक्टर ईमानदार और सख्त है।

    2. बॉलीवुड पुलिस कैसी हो इस पर जानकारों की अलग-अलग राय है। आमिर खान की सरफरोशमें संभवत: पहली बार ऑन स्क्रीन पुलिस को लाउड कैरेक्टर के खाके से बाहर निकाला गया। एसीपी अजय सिंह राठौड़ और इंस्पेक्टर सलीम का आइकॉनिक कैरेक्टर गढ़ चुके जॉन मैथ्यू मथान कहते हैं- पढ़े-लिखे ऑफिसर्स लाउड नहीं होते। वे कूल और शांत होते हैं।

    3. अब के इंस्पेक्टर्स थोड़े अलग तो हुए हैं। ए वेडनसडेके कमिश्नर को ही देख लें। 20 साल पहले के इंस्पेक्टर्स की एक लाइन हमेशा हुआ करती थी, ‘मां तुम्हारी आंखों में आंसू’। अब वह दौर नहीं आएगा। यह सच जरूर है कि कमर्शियल सेटअप की फिल्मों में इंस्पेक्टर्स को रॉबिन हुड वाला रंग चढ़ाया जाता है।

    4. इंस्पेक्टर कॉमेडी भी करता है, डांस भी और साथ ही ईमानदार भी है। ऐसा रियल लाइफ में तो कम होता है। सलमान ने चुलबुल पांडे का घूसखोर होना भीजस्टिफाई किया। मथान कहते हैं कि ऐसा जरूरी नहीं है कि चुलबुल पांडे की तरह ग्रे शेड वाले इंस्पेक्टर ही पॉपुलर होंगे। मेरी फिल्म गर्वका अर्जुन राणावत भी उतना ही पॉपुलर हुआ था। उसने सैकेंड और थर्ड टियर शहरों में अच्छा बिजनेस किया था।’

    5. पान सिंह तोमरलिख चुके संजय सिंह चौहान बताते हैं कि पहले के दौर में ‘अर्धसत्य’, ‘शक्ति’, ‘दीवार’ और ‘गंगा जमुना’ के इंस्पेक्टर्स बड़े ईमानदार थे और दर्शकों के बीच बड़े पॉपुलर भी हुए। आज की बात कर लें तो साउथ की ‘विक्रम वेधा’ का इंस्पेक्टर बड़ा ऑनेस्ट है, जिसे माधवन ने प्ले किया। वह साथ ही बड़ा रूखा भी है। अपनी वाइफ तक की जासूसी करवाता है। चूंकि वाइफ लॉयर है और विलेन का केस लड़ रही है। फिर भी वह वहां तो हिट रही ही। अब हिंदी में भी वह बन रही है।
    6. अब यह जरूर हो रहा है कि कॉप के कैरेक्टर में हीरो, विलेन तो छोड़ दें, कमेडियन तक की खूबियां-खामियां मिक्स कर पेश की जा रही हैं। ताकि वह लोगों को ज्यादा से ज्यादा अपील करें। पहले के दौर में भी उस तरह के इंस्पेक्टर के रोल गढ़े जाते थे। मिसाल के तौर पर ‘शहंशाह’ में अमिताभ बच्चन का कैरेक्टर उसी तरह का था। कॉमेडियन भी है और घूसखोर तो है ही। संयोग से इंस्पेक्ट
      र का वह वर्जन ज्यादा पॉपुलर हो गया। उसे साउथ वालों ने खासा एक्सप्लॉइट किया।
    7. यहां ‘राउडी राठौड़’ देखा जाए तो वह ‘कालीचरण’ का मॉर्डन इंटरप्रेटेशन है। देखा जाए तो कानून हाथों में लेकर न्याय दिलाने वाला इंस्पेक्टर सदा लोगों को दिलचस्प लगता रहेगा। अजय देवगन ‘सिंघम’ की पॉपुलैरिटी का राज बताते हैं। उन्होंने कहा, ‘यह कैरेक्टर बच्चों और औरतों के बीच बड़ा पॉपुलर है। औरतें सदियों तक सहमी रही हैं। अब उन्हें मौका मिल रहा है। ऐसे में पर्दे पर सिंघम की ऑनेस्टी और फैमिली वैल्यु वाली बात अच्छी लगती है। बच्चों में भी वह पॉपुलर है तो हम इसलिए एक्शन में खून-खराबा नहीं दिखाते।’
    8. सच्चा झूठा, लहू के दो रंग, सत्यमेव जयते, ज्वेल थीफ, जंजीर जैसी फिल्में आईं। इंस्पेक्टर स्पष्टवादी और अति ईमानदार होते थे। यानी जमीर और फर्ज के लिए अपना सब कुछ त्याग करने को तैयार रहते थे।
    9. शोले, दीवार, अमर अकबर एंथनी जैसी फिल्में आईं। दिमाग से ज्यादा दिल की सुनने वाली पुलिस आई। प्रेम नाथ की फिल्म दस नंबरी से करप्ट पुलिस ने दस्तक दी।
    10. जख्मी औरत, फूल बने अंगारे और अंधा कानून फिल्में आईं। ओमपुरी ने अर्धसत्य में इंस्पेक्टर के रोल को री-डिफाइन किया। लेडी पुलिस आई। रेखा और हेमा ने भी लेडी कॉप का किरदार निभाया।
    11. इसकेबाद से सरफरोश, बाजीगर, सत्या, दबंग, सिंघम जैसी फिल्में बनी। पुलिस का रियलिस्टिक पोर्ट्रेयल शुरू हुआ। सरफरोश में पहली बार पुलिस बिना लाउड होते काम करती दिखी। बाजीगर, वास्तव, सत्या में पुलिस से ज्यादा अपराधियों का महिमामंडन।

famous police characters in Bollywood movies
 

from Dainik Bhaskar
https://ift.tt/2QzrhrL

- Advertisement -

- Advertisement -

You might also like

Leave A Reply

Your email address will not be published.